सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पहाड़ियों पर एक मोटर साइकिल कैसे चलायें

post-feature-image

कुछ दिन पहले, मैं अपनी बाइक पर  एक छात्र को  " पहाड़ियों पर एक मोटर साइकिल कैसे चलायें ?" का   प्रशिक्षण  देने गया था ।  तो, आज मैं ऐसे स्वामी विवेकानंद गुरुकुल में साझा कर रहा हूँ ।  ताकि सभी ऑनलाइन विद्यार्थी भी सिख सके । हमने पिंजौर से कसोली तक मोटर साईकल को चलाया ।

 आप भी यदि पहाड़ पर मोटर साइकिल चलाओं तो इन बातों को ध्यान में रखों । 


1. चुनौती के रूप में  इसे ले 


क्या आप पहाड़ पर बाइक चलाने  से डरते हो ।  यदि ऐसा है तो इसे आप को चनौती के रूप में सवीकार करना होगा ।  चुनौती लेने के बिना, आप पहाड़ियों पर एक मोटर साइकिल की सवारी  नहीं सीख सकते । आप को खुद पर भरोसा रखना होगा कि आप में मोटर साइकिल को पहाड़ पर चलाने की शक्ति है । आप में ऐसा साहस कि आप इस काम को आसानी सी कर सकते हो। आप को कोई ताकत भयभीत नही कर सकती है ।  हा यह सच है कि  पहाड़ पर जोखिम तो है पर आप हर जोखिम लेने के लिए सक्षम है ।



2. रोड पर ध्यान केंद्रित रखें


आप को तो पता ही है कि पहाड़ का रोड हमेशा ही छोटा होता है क्योकि यह पहाड़ को काट कर बनाया जाता है ।  आप यहा लापरवाह नही हो सकते हो । एक बार गलती होने पर आप किसी तरह भी यहां नही बच सकते । आप को पूरी तरह अपना  ध्यान रोड की तरफ केंद्रित करना होगा ।  आप को यह देखना होगा कि कौन आगे से आ रहा है ।  आप को उसके मुताबिक मोटर साइकिल को चलाना होगा । यहां रस्ते सांप  की तरह होते है ।  जरा सा भी ध्यान भंग एक बड़ी दुर्घटना को अंजाम दे सकता है ।



3. ब्रेक पर पैर रखें 


आप को हमेशा ही अपने पैर अपनी ब्रेक पर रखने चाहियें क्योकि न जाने कब इसकी जरूरत पर जाये ।  इससे आप अपनी मोटर साइकिल की स्पीड कम कर सकते हों ।  याद रक्खें कभी भी इसकी गलती न करे ।  वरना आप की बाइक किसी में ठुक जाएगी ।



4. उपयोग में केवल  दूसरा  व  तीसरा  गियर ही लाएं 






जब भी आप ने पहाड़ की उचाई पर जाना है तो आप को दूसरा या तीसरा गियर ही पर अपनी बाइक की स्पीड तेज कर के चलाना है वरना आप की बाइक रुक सकती है ।  और पीछे जैम लग सकता है ।



5.  20 किमी / घंटा से 30 किमी / घंटे में सवारी बाइक


अपनी बाइक की गति 20 किमी / घंटा या 30 किमी / घंटा पर ही रखें ।   छोटी दूरी के बाद रोड  बदल जाता है  क्योकि बहुत सरे मोड़ है । स्पीड यदि ज्यादा होगी तो आप को रोकना मुश्कल होगा जिससे दुर्घटना हो सकती है ।


6. मोड़ते समय  याद रखें

जैसे ही मोड़ आये तो आप को एक दम ही किसी दूसरी गाड़ी को क्रॉस नही करना क्योकि सामने से कोई आ सकता है मोड़ होने की वजह से वह आप को दिखाई नही देगा । जिस कारण आप की मोटर साइकिल उस में ठुक  सकती है ।

इसी लेख को अंग्रेजी में पड़े । 




 पुस्तक के संदर्भ





टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शिक्षण क्या है |

इंग्लिश में शिक्षण को टीचिंग कहते है । जब एक गुरु अपने विद्यार्थी को ज्ञान देता है तो इसे ही शिक्षण कहा जाता है । प्राचीन कल से ही ऋषि मुनि शिक्षण का कार्य कर रहे है ।

१. सबसे पहले वे विद्यार्थों को अपना चरित्र सुधरने की शिक्षा देते है तथा कहते है हे प्रिये विद्यार्थों कभी भी अपना चरित्र मत खत्म करो । एक बार धन खत्म हो जाये तो फिर आ जाये गा , एक भार स्वास्थ्य चला जाये तो फिर आ जाये गा पर चरित्र  का विनाश हो  जाने से तो दुर्गति हि दुर्गति होती है । इस को सभालने के लिए रूप , शब्द, गंध , स्पर्श आदि मथुनों से रोका जाता है ।

२. चरित्र की शिक्षा  देने के बाद गुरु विद्यार्थी को अक्षर ज्ञान देता है । उसे संस्कृत , हिंदी , गणित , इतिहास , भूगोल तथा विज्ञानं की शिक्षा दी जाती है

३. उपरोक्त शिक्षा देने के लिए कक्षा एक से दस होती है । दस वर्ष तक गुरु शिष्य को अपने पास रखता है । गुरु उसके हरेक कार्य पर नजर रखता है ।

शिक्षण से अद्यापक विद्यार्थी की आंखे खोल देता है । अगर मेरे अद्यापक ने मुझे हिंदी न सिखाई होती तो मै आज  शिक्षण क्या है न लिख सकता । इस लिए शिक्षण के पेशे को सबसे अच्छा माना गया है क…

लेखांकन के उदेश्य क्या है (Objectives of Accounting in Hindi)

लेखाकंन के बहुत सारे उदेश्य है जीने हम नमन शब्दों में लिख सकते है ।  इन उदेश्यों को जानकारी प्राप्त कर लेने से आप इस क्षेत्र में आगे जा सकते हो |

बी. काम की शिक्षा के लिए नोट्स

प्यारे बी. काम के विद्यार्थयों, 

हम आप को निशुल्क बी. काम की शिक्षा नोट्स के माद्यम से देना चाहते है |  हमने आप के लिए पिछले पांच वर्षों में इस शिक्षा को आसान करने के लिए पर्यास किया है | उमीद है के निम्न दिए गए नोट्स को आप पडेगें | धन्यवाद