सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

December, 2009 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

लेखांकन के नजरिये से कम्पनियां महत्व पूर्ण पर क्यों ?

लेखांकन के नजरिये से कम्पनियां बहुत महत्व पूर्ण है क्योकि कारपोरेट लेखांकन पूरी तेरा से कपनियो के खाते बनाना सिखाता है यदि कपनी ही नहीं तो कारपोरेट लेखांकन किसी कम का नहीं है कारपोरेट लेखाकार को हर कपनी की बदलती हालतो पर नजर रखनी पड़ती है कपनी ने ही लेखाकंन के क्षेत्र को बहुत जियादा विशाल किया है

100 बातें जो मैंने लेखाँकन शिक्षा से सिखी

वर्ष 1996 मेँ पहिली बार मैने लेखाँकन शिक्षा के लिए 10+1 मेँ कोमरस ली थी इस कक्षा मेँ मैने लेखाँकन के विषय मेँ मुलभुत बाते सिखी तथा वही मुझे अपने कमरस मेँ पोसटगरैजुएशन करते समय भी काम आई । आज मुझे इस क्षेत्र मेँ कार्य करते हुए तकरीबन 12 वर्ष हो चुके है कयोँकि लेखाँकन मेरा अपनी कमरस शिक्षा मे प्रीय विषय रहा है तथा इस लिए मैँ इसी क्षेत्र मेँ ही कार्य़ भी किया है । इस शिक्षा से मैने बहुत कुछ सिखा है तथा वही आज 100 बाते जो मैँने लेखाँकन शिक्षा से सिखी के रुप मेँ आप को बता रहा हुँ ।