सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

लेखांकन अध्ययन के लिए कैसे अनुसूची बनाये?

यदि आप  B.Com., M.Com., CA or any other professional accounting course कर रहे है तो , आप surely lots of accounting subjects पड़  रहे होंगे । तो इस लिए यह जरूरी हो जाता है कि आप  accounting study schedule बना ले । 

निचे हम Accounting Study Schedule बनाने के  main Steps दे रहे है । 



1.  Full Accounting Subjects को पड़ने का समय का 

अनुमान लगाये । 

सबसे पहले आप को  estimate the time to cover full accounting subjects लगाना होगा ।  यदि आप को बहुत सारे  accounting topics को पड़ना है तो आप को  more time इस के लिए देना पड़ेगा । उदाहरण के लिए आप  full subject in 2 months or 3 months में पड़ सकते हो ।यह आप की  capacity पर निर्भर करेगा । 


2.  Dates and Time to Study Accounting 

Fundamentals को निश्चित करे 

एक  blank paper ले ।  इसके ऊपर  dates लिखें ।  उदाहरण के लिए, आप लिख सकते हो  today 15th Sept. 2015, 16th Sept. 2015 in different rows upto 30th Sept. 2015. अब विभिन कॉलम में  time को लिखे ।  यह morning 5 :00 a.m. to 6:00 a.m. हो सकता है । आप इसे  study  financial accounting fundamentals के लिए रख सकते हो।  उसके बाद आप  set 7 :00 a.m. to 8 :00 a.m. कर सकते हो  other Accounting subjects को पड़ने के लिए । 


3. Date and Time to Study Accounting 


Examples  को निश्चित करे 

 expert बनने के लिए आप को study accounting examples करनी पड़ेगी ।  आपको  set the timetable for studying accounting examples करनी पड़ेगी ।  यह सुबह  9:00 a.m. to 10 :00 a.m. तक हो सकती है । 


4.  Date and Time to Give Your Own Accounting 

Test को निश्चित करे 



हफ्ते के आखरी दिन आप अपना  accounting test ले सकते हो ।  


5. Time to Rest Breaks को दे 
Breaks बहुत जरुरी होते है ।  With rest breaks, आप एक  wonderful energy को प्राप्त करते हो ।  In these breaks, आप  water पी सकते हो ।  आप walk outside कर सकते हो ।   आप  fruits   सकते हो । आप  fruit juice पी सकते हो । In simple words, आप  study के लिए अपने आप को रिवॉर्ड दे सकते हो । 

6.  Schedule को  सख्ती से पालन करे 

यदि आप ने समय सरणी तयार कर ली है तो इस के उप्र सख्ती से पालन करे । इसी से आप को लाभ की प्राप्ति होगी । 


याद रखने योग्य बातें  : 

  • आपको  Computer, mobile games or TV पड़ने के समय नही देखना । 
  • यदि आप ने नियत समय से पहले ही पड़ लिया है तो आप इस को revise के लिए समय दे सकते हो। 
  • आप को अच्छा schedule  बनाने के लिए अपने अद्यापक की मदद लेनी चाहिए । 

इसी लेख को अंगेजी में पड़े । 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शिक्षण क्या है |

इंग्लिश में शिक्षण को टीचिंग कहते है । जब एक गुरु अपने विद्यार्थी को ज्ञान देता है तो इसे ही शिक्षण कहा जाता है । प्राचीन कल से ही ऋषि मुनि शिक्षण का कार्य कर रहे है ।

१. सबसे पहले वे विद्यार्थों को अपना चरित्र सुधरने की शिक्षा देते है तथा कहते है हे प्रिये विद्यार्थों कभी भी अपना चरित्र मत खत्म करो । एक बार धन खत्म हो जाये तो फिर आ जाये गा , एक भार स्वास्थ्य चला जाये तो फिर आ जाये गा पर चरित्र  का विनाश हो  जाने से तो दुर्गति हि दुर्गति होती है । इस को सभालने के लिए रूप , शब्द, गंध , स्पर्श आदि मथुनों से रोका जाता है ।

२. चरित्र की शिक्षा  देने के बाद गुरु विद्यार्थी को अक्षर ज्ञान देता है । उसे संस्कृत , हिंदी , गणित , इतिहास , भूगोल तथा विज्ञानं की शिक्षा दी जाती है

३. उपरोक्त शिक्षा देने के लिए कक्षा एक से दस होती है । दस वर्ष तक गुरु शिष्य को अपने पास रखता है । गुरु उसके हरेक कार्य पर नजर रखता है ।

शिक्षण से अद्यापक विद्यार्थी की आंखे खोल देता है । अगर मेरे अद्यापक ने मुझे हिंदी न सिखाई होती तो मै आज  शिक्षण क्या है न लिख सकता । इस लिए शिक्षण के पेशे को सबसे अच्छा माना गया है क…

लेखांकन के उदेश्य क्या है (Objectives of Accounting in Hindi)

लेखाकंन के बहुत सारे उदेश्य है जीने हम नमन शब्दों में लिख सकते है ।  इन उदेश्यों को जानकारी प्राप्त कर लेने से आप इस क्षेत्र में आगे जा सकते हो |

लागत लेखांकन नोट्स

लागत लेखांकन नोट्स में आपका स्वागत है| यह नोट्स  निन्म लिंक्स में दिए गए है | इनको एक एक करके आप देखे | मुझे आशा है कि इन  के माद्यम से आप लागत लेखांकन को जान लेंगे | कृपया अपने ब्राउज़र बटन का उपयोग करने के लिए वापस जाना है और इस विषय से संबंधित सभी व्याख्यान देखने के लिए आगे जाने के आगे का ब्राउज़र बटन का उपयोग करे ।