सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

लागत खाता बही लेखाकंन

किसी संस्था में अपनाई जाने वाली लेखाकंन प्रणाली बहुत कुछ व्यवसाय की आवशकता तथा अपेक्षित जानकारी पर निर्भर करती है | लागत पुस्तकें बनाने के दो मूल तरीके है |


(१) गैर एकीकृत लागत खाते लेखांकन 

(२) एकीकृत लागत लेखाकंन | 

जहां लागत व् वितीय लेनदेन अलग अलग रखे जाते है वह तरीका गैर एकीकृत य लागत खाते लेखांकन कहलाता है |

अंग्रेजी में पड़ने के लिए यह जाये | 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बी. काम की शिक्षा के लिए नोट्स

प्यारे बी. काम के विद्यार्थयों, 

हम आप को निशुल्क बी. काम की शिक्षा नोट्स के माद्यम से देना चाहते है |  हमने आप के लिए पिछले पांच वर्षों में इस शिक्षा को आसान करने के लिए पर्यास किया है | उमीद है के निम्न दिए गए नोट्स को आप पडेगें | धन्यवाद 

लागत लेखांकन नोट्स

लागत लेखांकन नोट्स में आपका स्वागत है| यह नोट्स  निन्म लिंक्स में दिए गए है | इनको एक एक करके आप देखे | मुझे आशा है कि इन  के माद्यम से आप लागत लेखांकन को जान लेंगे | कृपया अपने ब्राउज़र बटन का उपयोग करने के लिए वापस जाना है और इस विषय से संबंधित सभी व्याख्यान देखने के लिए आगे जाने के आगे का ब्राउज़र बटन का उपयोग करे ।

लेखांकन के उदेश्य क्या है (Objectives of Accounting in Hindi)

लेखाकंन के बहुत सारे उदेश्य है जीने हम नमन शब्दों में लिख सकते है ।  इन उदेश्यों को जानकारी प्राप्त कर लेने से आप इस क्षेत्र में आगे जा सकते हो |