सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हमारे विचार कैसे हों ?( हमारे कुविचारों -सुविचारों का अध्यन )

प्यारे दोस्तों ! इस दुनियां में हर मनुष्य अपने साथ एक मन को ले के आता है । उसमे दो तरह के विचार हमेशां ही चलते रहते हैं । एक हैं सकारात्मक विचार-दूसरे हैं नकारात्मक विचार । जो सकारात्मक विचार हैं वह आपके सबसे बड़े दोस्त हैं,क्योंकि जब-जब आप में सकारात्मक विचार आएंगे, उस समय आपका आत्मविश्वाश बढ़ता जाएगा तथा जिस समय आपमें नकारात्मक विचार आएंगे, उस समय आप का आत्म -विश्वाश कम होता जाएगा ।


तो जो बाहरी दुश्मन है -हमपे हमला करता है तो हमें पता लगता है कि उसने हमारे ऊपर हमला किया । पर जो यह विचार है न ; कब नकारात्मक हो जायँ इसका पता ही नहीं लगता । इस लिए अगर आपने अपनी जिंदगी में खुशहाली को लाना है , अगर आपने अपनी जिंदगी में आत्म विश्वाश को लाना है तो हमें अपने विचारों को सकारात्मक रखने के लिए अभ्यास करना पड़ेगा ।


 एक बार हम को अपने विचारों में यह बात लेके आनी पड़ेगी कि हमको सकारात्मक दृष्टि से सोचना है हमने अपने विचारों को अच्छे रास्ते में लेके जाना है । चलो मैने आपकी बात मान ली कि मन को एक बार कह दिया कि भईया:----------।


आपने सकारात्मक होना है -आपने सकारात्मक होना है । आपने सोचने का नजरिया सकारात्मक रखना है,तो क्या यह सम्भव है कि नकारात्मक विचार नहीं आएंगे, ऐसा नहीं हो सकता । क्योंकि जिस माहौल में रहते हैं ;नकारात्मक विचार भी आएंगे । कभी-कभी आपका मन उन विचारों के बीच में चला जायेगा । पर एक इंसान में जो-जो गुण होते हैं, जब वह किसी चीज का अभ्यास लगातार -२ करता है ,तो वह उस का आदी हो जाता है । ऐसे ही आप के विचारों में जब-जब उस को आप कहेंगे कि मेरे विचार सकारात्मक होने चाहियें ।


अगर में किसी के बारे में सोचूं तो सकारात्मक सोचूं -अगर में किसी के बारे में सोचूं तो सकारात्मक ही सोचूं । यदि मैं अपने परिवार के बारे में सोचूं तो सकारात्मक ही सोचूं,यदि में अपने बच्चों के बारे में सोचूं तो अच्छा ही सोचूं,यदि में अपने रिश्तेदारों के बारे में सोचूं तो अच्छा ही सोचूं । यदि में अपने किसी के बारे में सोचूं तो अच्छा ही सोचूं ;तो जब-जब आप अपने विचारों को अच्छा करने का अभ्यास करेंगे तो आप का जो मन है वह घटिया विचारों में नहीं जायेगा । अभ्यास के लिए मैं आप को एक आसान सा तरीका बताता हूँ :- दिन की शुरुयात् होती है सुबह चार बजे से,रात होती है दस बजे तक । इन  बारह घंटे से सोलह घंटो का जो समय है;आपके मन में विभिन्न प्रकार के विचार आते हैं । आप कुछ करना चाहते हैं,पर जो बाहर का माहौल है वो आपको करने नहीं देता ।


आप कुछ बनना चाहते हो पर बाहरी माहौल आपको कुछ बनने नहीं देता तो उस समय आपमें कुछ भावनाएं आ जाती हैं । आप गहरी चिंता से घिर जाते हो । उस समय आपके जो विचार हैं; वो नकारात्मक हो जाते हैं,तो जब आपने सुबह चार बजे उठना हो और रात के दस बजे सोना हो तो यह दो समय अपने मन में  इस बात को बार-२ दुहराते जाओ - दुहराते जाओ कि जो अगला दिन है वह दिन इस जोश के साथ शुरू करेंगे की हर विचार में सकारात्मक शक्ति आती रहे। बुरे विचार न आएँ उस के लिये आपने अपने मन की एक-एक तरंग के उपर नजर रखनी है क्योंकि जो मन की तरंगों के ऊपर आप नजर रखोगे तो मन की कोई भी तरंग नकारात्मक सोच की तरफ नहीं जाएगी ।तो आप जीवन इतना खुशहाल हो जाएगा-इतना आनंदित हो जाएगा कि आप उसको महसूस कर सकोगे ।


वीडियो ट्यूटोरियल के माध्यम से प्रेरणा




इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शिक्षण क्या है |

इंग्लिश में शिक्षण को टीचिंग कहते है । जब एक गुरु अपने विद्यार्थी को ज्ञान देता है तो इसे ही शिक्षण कहा जाता है । प्राचीन कल से ही ऋषि मुनि शिक्षण का कार्य कर रहे है ।

१. सबसे पहले वे विद्यार्थों को अपना चरित्र सुधरने की शिक्षा देते है तथा कहते है हे प्रिये विद्यार्थों कभी भी अपना चरित्र मत खत्म करो । एक बार धन खत्म हो जाये तो फिर आ जाये गा , एक भार स्वास्थ्य चला जाये तो फिर आ जाये गा पर चरित्र  का विनाश हो  जाने से तो दुर्गति हि दुर्गति होती है । इस को सभालने के लिए रूप , शब्द, गंध , स्पर्श आदि मथुनों से रोका जाता है ।

२. चरित्र की शिक्षा  देने के बाद गुरु विद्यार्थी को अक्षर ज्ञान देता है । उसे संस्कृत , हिंदी , गणित , इतिहास , भूगोल तथा विज्ञानं की शिक्षा दी जाती है

३. उपरोक्त शिक्षा देने के लिए कक्षा एक से दस होती है । दस वर्ष तक गुरु शिष्य को अपने पास रखता है । गुरु उसके हरेक कार्य पर नजर रखता है ।

शिक्षण से अद्यापक विद्यार्थी की आंखे खोल देता है । अगर मेरे अद्यापक ने मुझे हिंदी न सिखाई होती तो मै आज  शिक्षण क्या है न लिख सकता । इस लिए शिक्षण के पेशे को सबसे अच्छा माना गया है क…

लेखांकन के उदेश्य क्या है (Objectives of Accounting in Hindi)

लेखाकंन के बहुत सारे उदेश्य है जीने हम नमन शब्दों में लिख सकते है ।  इन उदेश्यों को जानकारी प्राप्त कर लेने से आप इस क्षेत्र में आगे जा सकते हो |

बी. काम की शिक्षा के लिए नोट्स

प्यारे बी. काम के विद्यार्थयों, 

हम आप को निशुल्क बी. काम की शिक्षा नोट्स के माद्यम से देना चाहते है |  हमने आप के लिए पिछले पांच वर्षों में इस शिक्षा को आसान करने के लिए पर्यास किया है | उमीद है के निम्न दिए गए नोट्स को आप पडेगें | धन्यवाद