सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हिंदी में टाईप करना सिखें

हिंदी एक राष्रटरिय भाषा है तथा यहा हमारे लिए शरम की बात है कि हम भारतिय होने के बावजुद हिंदी में टाईप करना नहीं जानते हिंदी में टाईप करना हमारे लिए बहुत ही समान की बात है कियुकि इस से हम सचे भारतिय होने के हकदार हो सकते है । भारत एक एसा देश है जो प्राचिन समय से ही ज्ञान ओर आधयातम का घर रहा है । जहां वेदों के ज्ञान ने सब से पहले मनुशय जाति को मनुशता का पाठ पडाया है इस लिए यह जरुरी है कि हम हिंदी सिखें तथा इस में टाईप करना भी सिखें


ओर यह मेरा वादा रहा कि आप को मैं विशव के सब से आसान तरीके से हिंदी में टाईप करना सिखा सकता हुं


तो कया आप हिंदी में टाईप सिखने के लिए तैयार है ।





पहला कदम





आप को पहले ईंगलिश की टाईप सिखनी पडेगी


asdfgf ;lkjhj = 30 times


qwertr poiuyu = 30 times


zxcvc .,mnbn = 30 times


एक साल इस का आभयास करे





दुसरा कदम





अब आप को हिंदी के फांउट डाउनलोड करने है


इस के लिए आप के पास विंडो सी. डी होनी चाहिए


तथा निचे लिखे पते से फांउट डाउनलोड करना





How to write in Hindi in ms word





तीसरी कदम






अब आप हिंदी मे लिखना सिखे



a s d f g ; l k j h j

का मतलब

च त क र प

qwertr poiuyu

का मतलब

ज द ग ह ब



zxcvc .,mnbn

का मतलब

म न म . , स ल व ल



After pressing Shift key of key board

you will get other new words of hindi



औ ऐ आ ई ऊ भ ङ घ ध झ ढ ञ ऑ



ओ ए अ इ उ फ ऱ ख थ छ ठ



ण ळ श ष । य़





ऍ र र् ज्ञ त्र क्ष श्र ( )



After pressing Alt key of key board
you will get hindi numbers and you can easily type it




१ २ ३ ४ ५ ६ ७ ८ ९ १०

अगर अब भी कोई मुशकल है तो send email at vinod_13242002@yahoo.com












टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शिक्षण क्या है |

इंग्लिश में शिक्षण को टीचिंग कहते है । जब एक गुरु अपने विद्यार्थी को ज्ञान देता है तो इसे ही शिक्षण कहा जाता है । प्राचीन कल से ही ऋषि मुनि शिक्षण का कार्य कर रहे है ।

१. सबसे पहले वे विद्यार्थों को अपना चरित्र सुधरने की शिक्षा देते है तथा कहते है हे प्रिये विद्यार्थों कभी भी अपना चरित्र मत खत्म करो । एक बार धन खत्म हो जाये तो फिर आ जाये गा , एक भार स्वास्थ्य चला जाये तो फिर आ जाये गा पर चरित्र  का विनाश हो  जाने से तो दुर्गति हि दुर्गति होती है । इस को सभालने के लिए रूप , शब्द, गंध , स्पर्श आदि मथुनों से रोका जाता है ।

२. चरित्र की शिक्षा  देने के बाद गुरु विद्यार्थी को अक्षर ज्ञान देता है । उसे संस्कृत , हिंदी , गणित , इतिहास , भूगोल तथा विज्ञानं की शिक्षा दी जाती है

३. उपरोक्त शिक्षा देने के लिए कक्षा एक से दस होती है । दस वर्ष तक गुरु शिष्य को अपने पास रखता है । गुरु उसके हरेक कार्य पर नजर रखता है ।

शिक्षण से अद्यापक विद्यार्थी की आंखे खोल देता है । अगर मेरे अद्यापक ने मुझे हिंदी न सिखाई होती तो मै आज  शिक्षण क्या है न लिख सकता । इस लिए शिक्षण के पेशे को सबसे अच्छा माना गया है क…

बी. काम की शिक्षा के लिए नोट्स

प्यारे बी. काम के विद्यार्थयों, 

हम आप को निशुल्क बी. काम की शिक्षा नोट्स के माद्यम से देना चाहते है |  हमने आप के लिए पिछले पांच वर्षों में इस शिक्षा को आसान करने के लिए पर्यास किया है | उमीद है के निम्न दिए गए नोट्स को आप पडेगें | धन्यवाद 

लेखांकन के उदेश्य क्या है (Objectives of Accounting in Hindi)

लेखाकंन के बहुत सारे उदेश्य है जीने हम नमन शब्दों में लिख सकते है ।  इन उदेश्यों को जानकारी प्राप्त कर लेने से आप इस क्षेत्र में आगे जा सकते हो |